सांस्कृतिक नृत्य की दीक्षा पूर्ण होने पर हुआ कार्यक्रम:कानपुर में महाशिवरात्रि पर मंदिर प्रांगण में बच्चों ने कला का किया प्रदर्शन

0
107

कानपुर में सांस्कृतिक नृत्य की दीक्षा पूर्ण होने पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम एलआईसी पार्क नारायण धाम में वैदिक स्कूल ऑफ डांस एंड म्यूजिक और सब सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया।

वैदिक स्कूल ऑफ डांस एंड म्यूजिक की संस्थापक वर्षा दीक्षित ने बताया कि ‘थिरक’ एकेडमी का यह वार्षिक महोत्सव है। दक्षिण भारत में सांस्कृतिक नृत्य के विद्यार्थियों की जब वार्षिक दीक्षा पूर्ण होती है, तब ‘अरंगेत्रम सेरेमनी’ आयोजित की जाती है जिसमें वह अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं। मंदिर के प्रांगण में ईश्वर के समक्ष अपनी कला का प्रदर्शन प्रभु के चरणों में प्रदर्शित करने जितना बड़ा सौभाग्य नहीं हो सकता इसलिए परंपरा को बनाये रखने के लिए थिरक कार्यक्रम को प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है।

समय-समय पर किया जाता है प्रोत्साहित
संस्था का उद्देश्य समाज के हित एवं प्रगति के लिए प्रयत्न करने, समाज के गरीब लाचार बच्चों की शिक्षा एवं अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति करना है। प्रोत्साहित करने एवं आर्थिक सहयोग करने समिति द्वारा समय-समय पर किया जाता है। गरीब बच्चों को प्रोत्साहित करने हेतु पाठ्य सामग्री, वस्त्र दिए जाते रहे हैं। बच्चों के उत्साहवर्धन हेतु कला, खेलकूद आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन भी करवाया जाता है। शिवरात्रि के पावन मौके पर कार्यक्रम में शिव-पार्वती, दुर्गा और गणेश जी आदि देवी-देवताओं की नृत्य स्तुति कर उनका आवाहन किया गया। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए छात्रों ने सूर्य वंदना, अर्धनारीश्वर, ऐहिगिरी नंदिनी, अधरम मधुरम, चंद्रचूर शिव, विट्ठल विट्ठल, श्री राम, शंकरा शिव आदि गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किया।छात्रों का नृत्य देखकर हर कोई मंत्रमुग्ध हो उठा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here